मानवीकरण अलंकार की परिभाषा

मानवीकरण अलंकार – Manvikaran Alankar In PDF उदाहरण सहित Download

मानवीकरण अलंकार – Manvikaran Alankar In PDF उदाहरण सहित Download

Manvikaran Alankar : हिंदी व्याकरण में कई तरह के अलंकार शामिल होते हैं, उसी में से एक मानवीकरण अलंकार शामिल होता है, जब भी कोई जड़ पदार्थों और प्रकृति के अंग जैसे कि पेड़ पर्वत नदी लताएं झरने पत्थर पक्षी हवा, दीपक पर मानवीय क्रियाओं का आरोप लगाया जाता है, अर्थात मनुष्य जैसा व्यवहार करता है, उसी तरह से इनके व्यवहार की व्याख्या की जाती है उसे ही मानवीकरण अलंकार कहा जाता है.

मानवीकरण अलंकार की परिभाषा

मानवीकरण अलंकार की परिभाषा

जब प्राकृतिक वस्तुओं जैसे पेड़ पौधे बाद अलादीन में मानवीय भावनाओं का वर्णन किया जाता है. यह उन मानवीय भावनाओं को दर्शाया जाता है और निर्जीव चीजों में सजीव होना बताया जाता है, तब वहां पर मानवीकरण अलंकार कहलाया जाता है मानवीकरण अलंकार के कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं जैसे कि,

कितने तरह के अलंकार होते है?

हिंदी व्याकरण में कई तरह के अलंकार होते हैं, जिनका उपयोग हिंदी व्याकरण और कई तरह की रचनाओं में अलग-अलग जगहों पर किया जाता है, उसमें से कुछ अलंकार हम आपको नीचे बताने वाले हैं जैसे कि,

  • अनुप्रास अलंकार
  • यमक अलंकार
  • उपमा अलंकार
  • उत्प्रेक्षा अलंकार
  • रूपक अलंकार
  • अतिशयोक्ति अलंकार
  • श्लेष अलंकार
  • यमक और श्लेष अलंकार में अंतर

मानवीकरण अलंकार के उदाहरण :

फूल हँसे कलियाँ मुसकाई।

जैसा कि ऊपर दिए गए उदाहरण में दिया गया है की फूल हंस रहे हैं एवं कलियाँ मुस्कुरा रही हैं। जैसा की हम जानते हैं की हंसने एवं  मुस्कुराने की क्रियाएं केवल मनुष्य ही कर सकते हैं प्राकृतिक चीज़ें नहीं। ये असलियत में संभव नहीं है  एवं हम यह भी जानते हैं की जब सजीव भावनाओं का वर्णन चीज़ों में किया जाता है तब यह मानवीकरण अलंकार होता है।

See also  चतुर नाई की कहानी | Very Short Hindi Story | Moral Stories | Chatur Nai

अतः यह उदाहरण मानवीकरण अलंकार के अंतर्गत आएगा।

मेघ आये बड़े बन-ठन के संवर के।

ऊपर के उदाहरण में दिया गया है कि बादल बड़े सज कर आये लेकिन ये सब क्रियाएं तो मनुष्य कि होती हैं न कि बादलों की। अतएव यह उदाहरण मानवीकरण अलंकार के अंतर्गत आएगा।ये असलियत में संभव नहीं है  एवं हम यह भी जानते हैं की जब सजीव भावनाओं का वर्णन चीज़ों में किया जाता है तब यह मानवीकरण अलंकार होता है।

अतः यह उदाहरण मानवीकरण अलंकार के अंतर्गत आएगा।

मानवीकरण अलंकार अन्य उदाहरण – Examples Of Manvikaran Alankar

हैं मसे भीगती गेहूँ की तरुणाई फूटी आती है।

यहाँ गेहूँ तरुणाई फूटने में मानवीय क्रियाओं का आरोप है।

यौवन में माती मटरबेलि अलियों से आँख लड़ाती है।

मटरबेलि का सखियों से आँख लड़ाने में मानवीय क्रियाओं का आरोप है।

लोने-लोने वे घने चने क्या बने-बने इठलाते हैं, हौले-हौले होली गा-गा घुघरू पर ताल बजाते हैं।

यहाँ चने पर होली गाने, सज-धजकर इतराने और ताल बजाने में मानवीय क्रियाओं का आरोप है।

है वसुंधरा बिखेर देती मोती सबके सोने पर।

रवि बटोर लेता है उसको सदा सवेरा होने पर। यहाँ वसुंधरा द्वारा मोती बिखेरने और सूर्य द्वारा उसे सवेरे एकत्र कर लेने में मानवीय क्रियाओं का आरोप है।

Manvikaran Alankar In PDF

Download Link 

 

Similar Posts